Wednesday , 8 February 2023

बलात्कार करने वाले युवक को युवती ने लिखा खुला पत्र

Loading...

open-letter-of-liz_16_06_2016कैलिफोर्निया के एक 20 वर्षीय युवक ने अपनी एक दोस्‍त के साथ बलात्‍कार किया। उस दोस्‍त का नाम ब्रोक टर्नर था, जिसने एक पार्टी के दौरान बीयर में नशे की गोलियां मिलाकर युवती को पिला दिया था।

टर्नर ने नशे का फायदा उठाते हुए युवती के साथ बलात्‍कार किया। होश में आने पर जब लड़की ने टर्नर के खिलाफ पुलिस केस दर्ज कराया और अदालत ने दोषी टर्नर को छह महीने जेल की सजा सुनाई। इस सजा के खिलाफ टर्नर के पिता ने अपील की और कहा, कि 20 मिनट के छोटे से कृत्‍य के बदले उसके बेटे को 6 महीने की सजा देना काफी कठोर फैसला है। क्‍योंकि दोनों नशे में थे, इसलिए उसकी सजा कम किए जाने पर पुनर्विचार किया जाना चाहिए।

लेकिन अदालत ने उसकी इस अपील को यह कहते हुए खारिज कर दिया कि नशे की हालत में होने का यह मतलब नहीं है कि टर्नर को उस युवती ने आमंत्रित किया था।

Loading...

अदालती फैसले के बाद लिज़ रूडी नाम की एक युवती ने अपने फेसबुक प्रोफाइल पर बलात्‍कारियों को एक खुली चिट्ठी लिखी है। उसका यह पत्र पूरी दुनिया में वायरल हो चुका है और उसे केवल एक सप्‍ताह में ही 27896 बार शेयर किया जा चुका है 41000 से ज्‍यादा लाइक्‍स मिल चुके हैं। इस लेटर पर दो हजार लोगों ने अपनी प्रतिक्रिया भी दी है।

यह है लिज़ के ओपन लेटर का हिंदी अनुवाद:

(तुम जानते हो कि तुम कौन हो)

  • क्‍या तुम्‍हें रात में अकेले निकलना चाहिए?
  • क्‍या सोचा था तुमने, क्‍या होने वाला है?
  • मैंने तो इस बारे में कुछ नहीं सोचा था
  • जब मैंने अपने कपड़े उठाए तो उन्‍हें सबूत के तौर पर देखा
  • क्‍या इन्‍हें पहनने की वजह से मेरा बलात्‍कार हुआ
  • इसमें मेरा दोष कहां है?
  • इसमें लगा टैग दोषी है क्‍या
  • क्‍या इसके लिए 60% कॉटन और 40% मेरी गलती है
  • मैंने इस बारे में कभी नहीं सोचा था
  • जब कोई अजनबी मुझे बीयर ऑफर कर रहा था।
  • मुझे बोतल ने नहीं कहा था, फिर भी मैंने बीयर पी
  • मेरी स्‍कर्ट ने कहा मेरा रेप करो
  • क्‍या यह सब हमारी पसंद का नतीजा था।
  • सबसे पहले तो यह कि, मैं स्‍पष्‍ट हूं
  • स्‍पष्‍ट हूं, क्‍योंकि मेरी ना का मतलब ना ही है।
  • स्‍पष्‍ट हूं कि किसी भी नशेड़ी के लिए मेरी हां नहीं है
  • स्‍पष्‍ट हूं कि बेहोशी और नशे की हालत में भी मैं सहमत नहीं हूं।
  • मैं इस पर भी स्‍पष्‍ट हूं कि, बिना सहमति का शारीरिक संबंध, सेक्‍स नहीं बल्कि बलात्‍कार है।
  • स्‍पष्‍ट हूं कि यौन शोषण पर सजा मिलनी ही चाहिए।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com