Tuesday , 5 July 2022

जानिए कैसे क्वाड का तोड़ निकालने में जुटा चीन, जिनपिंग ने 8 देशों की यात्रा पर विदेश मंत्री वांग यी

Loading...

हाल ही में जापान में समाप्त हुई क्वाड समिट के बाद से चीन बेचैन दिखाई पड़ रहा है। यही वजह है कि चीनी राष्ट्रपति कई देशों को अपने साथ जोड़ने के लिए प्रयास कर रहे हैं। खबर है कि चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने सुरक्षा और व्यापार पर 10 देशों के साथ समझौता करने की योजना बनाई है। अपने इस उद्देश्य की प्राप्ति के लिए वांग यी ने प्रशांत द्वीप देशों का एक बड़ा दौरा शुरू किया है। अपनी 10 दिवसीय यात्रा के दौरान, वांग किरिबाती, समोआ, फिजी, टोंगा, वानुअतु, पापुआ न्यू गिनी और पूर्वी तिमोर में रुकेंगे।

यह दौरा ऐसे समय में हो रहा है जब कुछ दिनों पहले टोक्यो में क्वाड शिखर सम्मेलन का आयोजन हुआ था जिसमें अपने सदस्यों को इन प्रशांत द्वीप देशों के साथ सहयोग को और मजबूत करने का आह्वान किया गया था। क्वाड में भारत के अलावा जापान, ऑस्ट्रेलिया और अमेरिका जैसे अमीर देश शामिल हैं। 

क्वाड समिट के बाद से चीन को चुनौती देने के लिए ऑस्ट्रेलिया की नवनिर्वाचित सरकार भी एक्टिव हो गई है। ऑस्ट्रेलिया के विदेश मंत्री पेनी वोंग 44 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल के साथ वांग के आठ देशों के दौरे का मुकाबला करने के प्रयास में प्रशांत द्वीप देशों में से एक फिजी पहुंचे। 

वहीं चीन के विदेश मंत्री की बात करें तो वे सोलोमन द्वीप भी गए, जिसने हाल ही में तीन क्वाड सदस्यों – अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और जापान की आपत्तियों के बावजूद चीन के साथ एक सुरक्षा समझौते पर हस्ताक्षर किए थे।

Loading...

चीन के विदेश मंत्री जिन देशों का दौरा कर रहे हैं उनमें से कई देश ऑस्ट्रेलिया से ज्यादा दूर नहीं हैं। विश्लेषकों का मानना है कि ऑस्ट्रेलिया चीन को AUKUS और क्वाड के जरिए कंट्रोल करने की कोशिश कर रहा है। इसी को देखते हुए चीन ऑस्ट्रेलिया के पड़ोसी देशों को अपने साथ जोड़ने का प्रयास कर रहा है। 

ऑस्ट्रेलिया ने अपने विदेश मंत्री वोंग को फिजी भेजा क्योंकि चीनी विदेश मंत्री सोमवार को प्रशांत द्वीप देशों के साथ एक हाईब्रिड सम्मेलन के लिए वहां पहुंचने वाले हैं। संयुक्त वक्तव्य में, क्वाड ने प्रशांत क्षेत्रीय सुरक्षा ढांचे के लिए समर्थन की पुष्टि की थी, जिसे चीन अपने विदेश मंत्री के अभूतपूर्व 10-दिवसीय दौरे के माध्यम से पूर्ववत करने का प्रयास कर रहा है। 

ऑस्ट्रेलियाई विदेश मंत्री ने फिजी में पैसिफिक आइलैंड्स फोरम सचिवालय को यह बताकर दूसरा रास्ता अपनाया कि उनकी सरकार प्रशांत द्वीपों की “सुनेगी” और स्वीकार किया कि कैनबरा ने पहले जलवायु परिवर्तन के साथ प्रशांत देशों के संघर्ष का सम्मान नहीं किया था। लेकिन नई लेबर सरकार और अधिक करेगी, जिसमें जलवायु बुनियादी ढांचे के वित्तपोषण और प्रशांत नागरिकों के लिए ऑस्ट्रेलिया में प्रवास और काम के रास्ते की पेशकश शामिल है।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com