Sunday , 29 May 2022

भारत में है विश्व का सबसे पुराना योगा स्कूल

Loading...

पटना। इन दिनों योगा फैशन में भी है और चलन में भी। मोदी सरकार के अथक प्रयास से हम भारत में आज अंतर्राष्ट्रीय योगा दिवस भी मना रहे है। योग दिवस के लिए देश भर में 3 लाख से अधिक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया, जब कि मुख्य कार्यक्रम चंडीगढ़ में आयोजित किए गए, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी शामिल हुए।

भारत में है विश्व का सबसे पुराना योगा स्कूल

1963 से ही सीखाया जा रहा योग

लेकिन बिहार के मुंगेर जिले में एक प्राचीन योग विद्दालय है, जिसे पूरी दुनिया में योग नगरी के नाम से जाना जाता है। मुंगेर को मिली इस उपलब्धि का श्रेय यहां के अनेक योगियों व गुरुओं को जाता है। यहां 1963 से ही बिहार योग विश्व विद्दालय चलाया जा रहा है, जिसके संस्थापक सत्यानंद सरस्वती है।

Loading...

1963 में सत्यानंद सरस्वती मुंगेर आए और योग का प्रशिक्षण देना शुरु किया। उन्होने मुंगेर किला परिसर में योग आश्रम की स्थापना की और तब से आज तक बिहार स्कूल ऑफ योगा पूरी दुनिया को योग सीखा रहा है। योगाश्रम की दुनिया भर में करीब 70 से अधिक शाखाएं है।

2013 में मुंगेर में विश्व योग सम्मेलन का आयोजन भी बिहार स्कूल ऑफ योगा के सौजन्य से कराया गया था। इस सम्मेलन में 70 से अधिक देशों के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया था। योग एक विधा, विज्ञान के साथ साथ जीवनशैली है जिसे हमारे ऋषि- मुनी हजारों सालों से विकसित और परिष्कृत करते आए हैं। आज योग विधा सारी दुनिया में फैल चुका है।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com