Sunday , 29 May 2022

आज के दिन तिजोरी में रख दें ये चीज, धन से संबंधित सभी परेशानियां होंगी दूर

Loading...

आज शुक्रवार का दिन है और आज के दिन माँ लक्ष्मी का पूजन किया जाता है। ऐसे में आज के दिन माँ लक्ष्मी को आप किस तरह खुश कर सकते हैं उसके लिए हम कुछ उपाय लेकर आए हैं जो आपको धन-धान्य से भर देंगे।

माँ लक्ष्मी को प्रसन्न करने के उपाय-

* अगर आपके घर में बरकत नहीं हो रही है और धन नहीं टिक रहा है तो आप शुक्रवार के दिन श्रीसूक्त और लक्ष्मी सूक्त का पाठ करें। जी दरअसल ऐसी मान्यता है कि इससे मां लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं और भक्त पर कृपा बरसाती हैं।

* कहा जाता है घर से नेगेटिविटी की दूर करने के लिए हफ्ते में एक बार नमक के पानी का पोंछा लगाना चाहिए। जी दरअसल ऐसी मान्यता है कि इससे परिवार में सुख-शांति के साथ समृद्धि भी आती है।

* ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए शुक्रवार के दिन सुबह स्नान के बाद सफेद वस्त्र धारण करना चाहिए और उसके बाद पूजाघर में मां लक्ष्मी की प्रतिमा पर कमल का पुष्प अर्पित करना चाहिए। कहा जाता है कि इससे जीवन में धन से संबंधित परेशानियां दूर हो जाती हैं।

* शुक्रवार के दिन मां लक्ष्मी को सात्विक भोजन या सफेद चीज का भोग लगाना चाहिए। जी दरअसल मां लक्ष्मी को सफेद रंग प्रिय है और ऐसा माना जाता है कि मां लक्ष्मी इससे प्रसन्न होती हैं।

Loading...

* कहते हैं अगर किसी शुभ कार्य के लिए घर से जा रहे हैं तो बाहर जाने से पहले दही खाकर निकलें। जी दरअसल इससे काम में सफलता हासिल होती है।

* अगर धन संपदा में वृद्धि चाहिए तो माँ लक्ष्मी को कौड़ी, मखाना, बताशा आदि चीजें चढ़ानी चाहिए। जी दरअसल ऐसी मान्यता है कि इससे मां लक्ष्मी अपनी कृपा बरसाती हैं।

* कहा जाता है मां लक्ष्मी के दिन शुक्रवार को घर या दुकान की तिजोरी में कमल का फूल रखना चाहिए। उसके बाद 1 महीने के बाद नया फूल तिजोरी में रख दें। जी दरअसल माना जाता है कि इससे धन संबंधी सभी परेशानियां खत्म हो जाती हैं।

* किसी भी अष्टमी की संध्या को घर के ईशान कोण में गाय के घी का दीपक लगाएं। इस दौरान बत्ती में रुई के स्थान पर लाल रंग के धागे का इस्तेमाल करें और दीपक में केसर भी डाल दें। जी दरअसल ऐसी मान्यता है कि ऐसा करने से धन लाभ के योग बनते हैं।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com