Friday , 3 December 2021

IS बेच रहा है 12 साल की ‘वर्जिन’ लड़कियां, लग रही है बोली

IS वॉट्सएप पर बेच रहा है 'वर्जिन' लड़कियां, लगे जा रही है बोलीकुख्यात आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट अब मासूम लड़कियों का सौदा करने के लिए जो तरीके अपना रहा है वह हैरान करने वाले हैं। आईएस अब लड़कियों का सौदा वॉट्सएप और टेलीग्राम जैसे अप्लीकेशन पर कर रहा है। इसका खुलासा तब हुआ जब 12 साल की ‘वर्जिन’ लड़की का एक विज्ञापन सामने आया।

टाइम्स ऑफ इंडिया के अनुसार, विज्ञापन पर के तौर वॉट्सएप में दी गई 12 साल की लड़की की तस्वीर डाली गई और फिर आधार पर लोग बोली लगा रहे हैं। बताया जा रहा है कि इस लड़की की अंतिम बोली 12 हजार पांच सौ डॉलर यानी करीब आठ लाख 44 हजार रुपए की लगी है।

आईएस की ओर से इराक और सीरिया में लड़कियों और महिलाओं का सौदा होना तो आम बात है लेकिन लेकिन जिस तरह से लोग मासूम बच्चियों की भी बोली लगा रहे हैं वह हैरान करने वाला है।
अगवा की गई लड़कियों को बनाया सेक्स स्लेव

समाचार एजेंसी एसोसिएटेड प्रेस की ओर से जारी की गई रिपोर्ट में कहा गया है कि इराक और सीरिया के अल्पसंख्यक समुदाय यानी यहूदियों की जिन महिलाओं और बच्च‌ियों का कुछ समय पहले अपहरण किया गया था उन्हें सेक्स स्लेव बना लिया गया है।

isis_1467785869

इसी समुदाय की मासूम बच्च‌ियों की ‘वर्जिन गर्ल’ नाम से इंटरनेट के जरिए बोली लगवाई जा रही है। आतंकवादी महिलाओं और बच्च‌ियों को कैद कर उनका यौन शोषण कर रहे हैं। हालांकि आतंकियों के स्वघोषित इस्लामिक स्टेट इलाके में उनका प्रभाव कम होता जा रहा है। अमेरिकी और रूसी सेनाओं ने जिस तरह से आतंकियों पर हवाई हमले किए हैं उससे वह अब खात्मे की कगार पर पहुंच गए हैं।

वहां के सामाजिक कार्यकर्ताओं के अनुमान के मुताबिक आईएस के पास अभी भी करीब तीन हजार महिलाएं और लड़कियां कैद हैं। इन लड़कियों के मालिक(कैद रखने वाला) के फोन नंबर के साथ वॉट्सएप पर तस्वीर डाली जाती है और फिर लोगों को बोली लगाने के लिए कहा जाता है।

एक सामाजिक कार्यकर्ता और जर्मन इराक मदद संगठन के अध्यक्ष मिर्जा दनाई ने बताया है कि आईएस के चंगुल से बहुत सी महिलाओं को मुक्त कराया गया है लेकिन अब यह काम ज्यादा कठिन हो गया है।
एक लड़की को कई-कई बार बेचा जाता है

रिपोर्ट में एक लड़की लामिया की कहानी का हवाला देते हुए कहा गया है कि एक लड़की को कई-कई बार बेचा जाता है। नौ साल की लामिया को तो सामाजिक कार्यकर्ताओं ने छुड़ा लिया ‌था लेकिन उसकी बड़ी बहन अभी भी आईएस के चंगुल में है। लामिया सिंजर प्रांत के कोचो गांव की रहने वाली थी।

एक वॉट्सएप ग्रुप में 100 लोग तक होते हैं। इस ग्रुप का कोई एक शख्स कैद की हुई लड़की की तस्वीर डालकर उसकी कीमत लगाने के लिए कहता है इसके बाद लोग उसकी बोली लगाते हैं। अंतिम बोली लगने के बाद तीन हजार डॉलर से लेकर 15 हजार डॉलर तक में उसे बेच दिया जाता है।

कई बार तो लड़कियों को उनके हा‌थ बांधकर बाजार ले जाया जाता है। पशुओं की तरह उनका बाजार सजाया जाता है। कोई लड़की अगर भागने की कोशिश करती है तो उसके साथ वो बर्बरता की जाती है जिसे सुनकर किसी के भी रोंगटे खड़े हो जाए।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com