Thursday , 30 June 2022

अभी-अभी: 5 राज्यों में IT ने 100 जगहों पर मारा छापा, कई बड़े नेता शिकंजे में

Loading...
कालेधन के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान में आयकर विभाग ने शुक्रवार को चेन्नई, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, मुंबई और हैदराबाद में 100 से अधिक जगहों पर छापेमारी की। रिपोर्ट के मुताबिक, इनमें कुछ का लिंक बीएसपी सुप्रीमो मायावती के भाई आनंद कुमार से रहा है। वहीं, चेन्नई में आरकेनगर उपचुनाव के साथ-साथ कुछ अन्य राजनैतिक नेटवर्क अवैध पैसों के लिंक में भी कुछ लोगों के खिलाफ सबूत मिले हैं।अभी-अभी: योगी सरकार ने लिया सबसे बड़ा फैसला बदला इतिहास, अब इनकी खैर नहीं
अभी-अभी: 5 राज्यों में IT ने 100 जगहों पर मारा छापा, कई बड़े नेता शिकंजे मेंआयकर विभाग ने चेन्नई में 33 ठिकानों पर छापेमारी की। वहीं तमिलनाडु में स्वास्थ्य मंत्री विजय भास्कर और एक्टर सरथकुमार के स्थानों पर भी छापेमारी हुई। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, विजय भास्कर के घर से 58 करोड़ रुपए का सोना, 4.5 करोड़ रुपए कैश और दूसरे दस्तावेज बरामद हुए हैं। 

बिक गया माल्या का चर्चित किंगफिशर विला, जानिए कौन हैं खरीददार?

वहीं, आरोप है कि चेन्नई के आरके नगर में हो रहे उपचुनाव में वोटर्स को लुभाने के लिए पानी की तरह पैसे को बहाया जा रहा है। आयकर विभाग इस पर भी नजर बनाए हुए है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि आयकर विभाग ने कुछ बिल्डरों और आनंद कुमार और उनके सहयोगियों से नजदीकी कारोबारी रिश्ता रखने वाली कुछ कारोबारी प्रतिष्ठानों के सर्वे किए और रिकार्डों की पड़ताल की।

समझा जाता है कि इस पड़ताल के दौरान आनंद कुमार और उनके सहयोगियों की कई कंपनियों में हिस्सेदारी का पता लगाया जा रहा है। हालांकि इन कारोबारी लेनदेन की सच्चाई की अभी विस्तृत पड़ताल जारी है। आयकर कानूनों के मुताबिक सर्वे के दौरान आयकर अधिकारी कारोबारियों या कंपनियों के मालिकों के प्रतिष्ठानों का दौरा करते हैं। इसके तहत कारोबारी प्रतिष्ठान के मालिकों की रिहायशी इमारतों पर छापे नहीं मारे जाते। 

Loading...

मोदी मंत्रिमंडल से एक दर्जन मंत्रियों की होगी छुट्टी, कुछ को मिलेगा काम का इनाम

सर्वे ऑपरेशन के तहत आयकर अधिकारी कुमार और उनके सहयोगियों की कंपनियों की ओर से किए गए वित्तीय लेेनदेन की प्रामाणिकता भी जांच कर रहे हैं। साथ ही इन कंपनियों में उनकी पूंजी हिस्सेदारी के स्ट्रक्चर, अनसिक्योर्ड लोन और लेनदारों की भी जांच चल रही है।  

अधिकारी अचल संपत्तियों में उनके निवेश और और उनके स्त्रोतों का भी पता कर रहे हैं। अधिकारी इस बात का भी सबूत तलाश रहे हैं कि कुछ बिल्डरों के यहां तो कुमार ने निवेश नहीं किया है। माना जा रहा है कि काले धन को सफेद करने के लिए कई कंपनियों में बेनामी निवेश किया गया है।

 
 

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com