Saturday , 2 July 2022

इन दिनों सप्लाई संकट से जूझ रहे हैं एचपी के पेट्रोल पंप, जीएसटी आयुक्त से मिले डीलर्स….

Loading...

Petrol Deisel Crisis in CG: हिन्दुस्तान पेट्रोलियम कार्पोरेशन लिमिटेड (एचपी) के पेट्रोल पंप इन दिनों सप्लाई संकट से जूझ रहे हैं। इसके चलते प्रदेश भर के 40 फीसद पेट्रोल पंपों में सूखे के हालात हैं। इस बीच यह भी अफवाह फैल गई है कि एचपी के कई पंप बंद हो चुके हैं। हालांकि कंपनी के अधिकारियों ने स्पष्ट किया है कि केवल सप्लाई प्रभावित हुई है। एक भी पेट्रोल-पंप पूरी तरह बंद नहीं है।

राजधानी सहित भिलाई के भी कुछ पेट्रोल पंपों के बंद होने की अफवाह उड़ी। अफवाह फैलते ही दूसरी कंपनियों के पेट्रोल पंपों में लोगों की भीड़ भी लगनी शुरू हो गई। कंपनी का कहना है कि कुछ पेट्रोल पंप में तो कंपनी के पास डीलरों ने एडवांस राशि जमा नहीं की है। इस वजह से अभी पंप में सप्लाई नहीं हो रही है। उल्लेखनीय है कि प्रदेशभर में एचपी कंपनी के 750 पेट्रोल पंप है।

जीएसटी आयुक्त से मिले डीलर्स

एचपी के पंप बंद होने की अफवाह उड़ने के बाद सोमवार को छत्तीसगढ़ पेट्रोलियम डीलर एसोसिएशन के सदस्यों ने जीएसटी आयुक्त समीर विश्नोई से मुलाकात की। एसोसिएशन के अध्यक्ष विजय पांडे ने बताया कि एचपी कंपनी के 40 फीसद पंप अभी सूखे हैं। अभी बारिश का मौसम है। खेती कार्यों के लिए किसानों को डीजल की आवश्यकता होती है, लेकिन पंप बंद होने की वजह से किसानों को भी भटकना पड़ रहा है। अध्यक्ष ने कहा कि पंप संचालकों को इन दिनों काफी नुकसान भी उठाना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि आपूर्ति के संबंध में कंपनी के बड़े अधिकारियों से भी कहा गया है, लेकिन कोई समाधान नहीं हुआ।

दूसरी कंपनियों पर भार

Loading...

एचपी के पेट्रोल पंप सूखे होने की वजह से इन दिनों दूसरी कंपनियों के पेट्रोल पंपों पर इसका पूरा भार आ गया है। दूसरी कंपनियों की बिक्री भी बढ़ गई है। साथ ही इन कंपनियों के द्वारा आपूर्ति भी बढ़ा दी गई है। बताया जा रहा है कि प्रदेश में तीनों ही कंपनियों के कुल पेट्रोल पंपों की संख्या करीब 2,200 है और अभी करीब 300 से अधिक पंपों की हालात काफी खराब है।

राजनांदगांव में पंपों को इमरजेंसी के लिए स्टाक रखने का आदेश

फ्यूल की किल्लत को देखते हुए इन दिनों कई जिलों में अत्यावश्यक सेवाओं के लिए स्टाक रखने के आदेश दिए जा रहे हैं। बताया जा रहा है कि राजनांदगांव में सभी पेट्रोल पंपों को निर्देश जारी किए गए हैं कि वे फ्यूल का स्टाक अत्यावश्यक सेवाओं के लिए बचाकर रखें। सभी पंपों में पेट्रोल दो हजार लीटर और तीन हजार लीटर हाई स्पीड डीजल आइल का स्टाक हमेशा सुरक्षित रखें। बताया जा रहा है कि इस प्रकार के आदेश और भी कई जिलों से जारी हो सकते हैं।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com