Saturday , 28 May 2022

शाम की चाय पे आयेगा दोगुना मजा जब खाएंगे शंकरपाळी

Loading...

शंकरपाळी यानी नमक पारे, ज्‍यादातर दीपावली के समय बनाई जाती है, जो कि एक टेस्‍टी स्‍नैक होता है। मगर आप इसे किसी भी समय ज्‍यादा सा बना कर एक जार में भर कर रख सकती हैं और चाय-कॉफी के समय सर्व कर सकती हैं।

शाम की चाय पे आयेगा दोगुना मजा जब खाएंगे शंकरपाळीशंकरपाळी को बनाना काफी आसान है। आप इसे दोंनो ही नमकीन या मीठा बना सकती हैं। इन्‍हें स्‍टोर कर के रखने पर ये काफी लंबे समय तक चलती हैं। आइये जानते हैं इन्‍हें बनाने की विधि।

कितने- 3 से 4 सदस्‍यों के लिये तैयारी में समय- 35 मिनट बनाने में समय- 30 मिनट

सामग्री-

Loading...

½ कप – गेहूं का आटा ½ कप – मैदा  ¼ कप महीन रवा 2 चम्‍मच घी या तेल ½ चम्‍मच अजवाइन ½ चम्‍मच जीरा ¼ चम्‍मच काली मिर्च पिसी हुई ½ चम्‍मच चम्‍मच नमक या स्‍वादअनुसार ½ कप दूध या पानी  तेल- डीप फ्राई करने के लिये

बनाने की विधि-

एक बड़ी प्‍लेट में गेहूं, मैदा और रवा को मिक्‍स कर लें। फिर उसमें अजवाइन, कुटी हुई काली मिर्च, जीरा और स्‍वादअनुसार नमक मिक्‍स कर लें।  एक छोटे पैन में 2 चम्‍मच घी गरम करें। इस घी को ऊपर वाले मिश्रण में डालें और उंगलियों की सहायता से मसल लें।  फिर इसमें आधा कप दूध मिक्‍स करें और आटा तैयार करें।  आटा बिल्‍कुल भी मुलायम ना रखें। फिर आटे को गीले कॉटन के कपड़े से 30 मिनट के लिये ढांक कर रख दें।  फिर आधे घंटे के बाद आटे को हाथों से मसलें और तीन भागों में बांट कर हाथों से रोल कर लें और एक छोटा बॉल बना लें।  अब इसको बेल कर 6 से 7 इंच तक गोलाई में फैलाएं। यह ना तो ज्‍यादा मोटा होना चाहिये और ना ही बहुत पतला।  अब चाकू की मदद से इसको डायमंड शेप का काटें और किनारे एक प्‍लेट में ढंक कर रखें।  फिर कढाई में तेल गरम करें, फिर उसमें इन्‍हें थोड़ा थोड़ा कर के फ्राई करें।  तेल अगर बहुत ज्‍यादा गरम होगा तो शंकरपल्‍ली बाहर से पक जाएगी पर अंदर से नरम ही रहेगी।  इसलिये तेल को एक बार गरम कर के हल्‍का ठंडा कर लें।  एक बार जब सारी शंकरपल्‍ली बन कर तैयार हो जाएं, तब इन्‍हें ठंडा कर के किसी जार में भर कर रख लें। फिर इन्‍हें स्‍नैक के तौर पर सर्व करें।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com